Loading
समीर अबरोल की पत्नी ने लिखी भावुक पोस्ट, 'और कितनी कुर्बानियां देनी होंगी?'
HINDI NEWS18
Mon, 11 Feb 2019 22:36

समीर अबरोल की पत्नी ने लिखी भावुक पोस्ट, 'और कितनी कुर्बानियां देनी होंगी?'

HINDI NEWS18
Mon, 11 Feb 2019 22:36

बेंगलुरु में मिराज 2000 एयरक्राफ्ट के क्रैश के दौरान जान गंवाने वाले स्‍क्‍वाड्रन लीडर समीर अबरोल की पत्नी गरिमा अबरोल ने फेसबुक पर एक बेहद भावुक पोस्ट लिी है.

समीर अबरोल की पत्नी ने लिखी भावुक पोस्ट, 'और कितनी कुर्बानियां देनी होंगी?'
उन्होंने अपने फेसबुक पोस्ट में लिा कि कुछ गलत हुआ है इसका एहसास कराने के लिए कितने और पायलटों को अपनी जान गंवानी पड़ेगी?सोशल मीडिया पर एक भावुक पोस्ट लिते हुए उन्होंने कहा कि मुझे अब तक इस बात का भरोसा नहीं हो रहा है कि मेरे पति नहीं हैं. और यही भावना मुझे उनके हक के लिए लड़ने के लिए ताकत देगी.एक फरवरी को बेंगलुरु में टेस्‍ट फ्लाइट के दौरान मिराज 2000 लड़ाकू विमान क्रैश हो गया था. इसके चलते स्‍क्‍वाड्रन लीडर समीर अबरोल और उनके साथी स्‍क्‍वाड्रन लीडर सिद्धार्थ नेगी की मौत हो गई थी.गरिमा ने लिा, मैं गरिमा अबरोल हूं. मैं शहीद स्‍क्‍वाड्रन लीडर समीर अबरोल की पत्नी हूं. मेरे आंसू अभी तक नहीं सूे हैं. मुझे अब तक विश्वास नहीं हो रहा है कि तुम चले गए हो. मेरे सवालों का कोई जवाब नहीं दे रहा है. मेरे पति को भारतीय होने पर गर्व था.(यह भी पढ़ें: एक बार फिर से एक शहीद मारा गया, मिराज 2000 प्‍लेन क्रैश में मारे गए पायलट पर लिी कविता वायरल)मुझे अपने पति को सुबह चाय पिलाकर भेजते हुए डर लगता है. हर सैनिक की पत्नी को सबसे बड़ा डर इस बात का डर होता है कि कहीं उसके पति को युद्ध के लिए न बुला लिया जाए. मुझे भी इस बात का डर लगता था. कई बार मैं इस डर की वजह से नींद में चीी भी.

Loading...
कई बार नींद टूटी. लेकिन समीर मुझे संभाल लेते थे. वे मुझसे कहते थे कि देश के लिए शहीद होना हर सिपाही का कर्तव्य होता है. हमें हमेशा देश की सेवा के लिए तैयार रहना होता है जब भी बुलावा आजाए..वे चाहते थे कि मैं उनकी तरह बहादुर बनूं.(यह भी पढ़ें:CM के साथ रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण पहुंचीं शहीद सिद्धार्थ नेगी के घर, दी परिवार को सांत्वना)गरिमा ने लिा, कितने और पायलटों को इस बात के लिए कुर्बानी देनी होगी जिससे इस सिस्टम के लोगों को एहसास हो कि कुछ गलत हुआ है. आपको जगाने के लिए कितने और पायलटों को अपनी जान देनी होगी.?इससे पहले स्‍क्‍वाड्रन लीडर समीर अबरोल के छोटे भाई सुशांत ने कहा था कि नौकरशाह तो मलाई काट रहे हैं. वायुसैनिकों को पुरानी आउटडेटेड मशीनें दी जा रहीं हैं.सुशांत ने अपने भाई के निधन पर एक कविता भी लिी थी. उन्‍होंने बताया कि जिस फ्लाइट से वह आ रहे थे उसमें आठ अफसर भी थे. उनकी आंों में आंसू थे. उन्‍होंने कहा, मुझे लगा कि यह सब उनमें से किसी एक के साथ हो सकता था. यह किसी परिवार का नहीं बल्कि एयर फॉर्स का नुकसान है. जो मैंने लिा वह भावनाओं के जरिए आया.एक क्लिक और बरें ुद चलकर आएगी आपके पास,सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स