Loading
Jet Airways के कर्मचारी अरुण जेटली से मिले, बोले- प्‍लीज सैलरी दिला दीजिए
HINDI NEWS18
Sun, 21 Apr 2019 00:06

Jet Airways के कर्मचारी अरुण जेटली से मिले, बोले- प्‍लीज सैलरी दिला दीजिए

HINDI NEWS18
Sun, 21 Apr 2019 00:06

Jet Airways के कर्मचारी अरुण जेटली से मिले, बोले- प्‍लीज सैलरी दिला दीजिए


जेट एयरवेज के कर्मचारियों ने दिल्ली में वित्त मंत्री अरुण जेटली से मुलाकात की (फोटो साभार-एएनआई)
News18.comUpdated: April 21, 2019, 12:06 AM IST

नकदी संकट से जूझ रही जेट एयरवेज के पायलटों समेत लगभग 23 हजार कर्मचारियों के वेतन भुगतान में देरी हुई है. इसको लेकर शनिवार को जेट एयरवेज के कर्मचारियों ने वित्‍त मंत्री अरुण जेटली से मुलाकात की. कर्मचारियों ने जेटली से एयरलाइन को बचाने की दर्‍वास्‍त की. इससे पहले कर्मचारियों ने राष्ट्रपति राम नाथ कोविद से लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक को पत्र लि इस मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की थी.वित्‍त मंत्री से मुलाकात के बाद जेट एयरवेज के सीईओ विनय दुबे ने कहा, हमने अरुण जेटली से मुलाकात की. हमने उनके सामने अपनी बात री है. सभी कर्मचारियों ने सैलरी दिलाने की गुहार लगाई. हमने उनसे अनुरोध किया है कि एक ुली और पारदर्शी बोली प्रक्रिया शुरू की जाए. उन्‍होंने हमें इसका आश्‍वासन भी दिया है. जेट एयरवेज ने परिचालन के लिए पर्याप्त धन न होने के कारण अपनी सेवाओं को अस्थायी तौर पर निलंबित कर दिया है.प्रधानमंत्री और राष्‍ट्रपति को लिे पत्र में कहा गया है, आपसे अनुरोध हैं कि इस स्थिति पर तत्‍काल प्रभाव से कोई कार्रवाई करें. जेट एयरवेज (इंडिया) लिमिटेड के प्रबंधन को प्रभावित कर्मचारियों की बकाया राशि का भुगतान करने के लिए निर्देशित करें. एयरलाइन नकदी के संकट के कारण 23,000 कर्मचारियों को वेतन नहीं दे पा रही है. इनमें पायलट भी शामिल हैं.ये भी पढ़ें: इनकम टैक्स ने बताया रिफंड पाने का नया तरीका, ये काम करने पर सीधे ाते में आएंगे पैसेइससे पहले संकटग्रस्त जेट एयरवेज के कर्मचारियों को स्‍पाइसजेट ने बड़ी राहत दी है. जेट एयरवेज के 100 पायलटों समेत 500 से ज्यादा कर्मचारियों को स्‍पाइसजेट ने नौकरी पर रा है. कंपनी का कहना है कि वो आगे जेट के और भी कर्मचारियों को नौकरी देने के लिए तैयार है. स्पाइसजेट के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक अजय सिंह ने शुक्रवार को इस बात की जानकारी दी.स्‍पाइसजेट अपने बेड़े में 27 और विमानों (22 बोइंग 737 और पांच टर्बोप्रॉप बॉम्बार्डियर क्यू400एस) को शामिल करने की घोषणा कर चुकी है. इस पर कंपनी का कहना है कि जेट एयरवेज के अस्‍थायी रूप से घरेलू और अंतरराष्‍ट्रीय सेवाओं के बंद होने के कारण यह कदम उठाया गया है.ये भी पढ़ें: शॉर्ट वीडियो ऐप TikTok को लेकर बड़ी बर! पेरेंट कंपनी ने किया ये ऐलान

Loading...
अजय सिंह ने कहा कि उनकी एयरलाइंस की भर्ती में जेट एयरवेज के कर्मचारियों को प्रथम प्राथमिकता दी जा रही है. उन्‍होंने कहा, हम अपनी एयरलाइंस का विस्‍तार कर रहे हैं और जेट एयरवेज के कर्मचारियों को पहली प्राथमिकता दे रहे हैं. हमने हाल ही में 200 से अधिक केबिन क्रू, 200 से अधिक तकनीकी और 100 से अधिक पायलटों को नौकरी दी है.एक क्लिक और बरें ुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स 
Loading...
और भी देें