Loading
चंदे से आने वाली कार भी स्वीकार नहीं करेंगी राम्या
HINDI NEWS18
Mon, 22 Jul 2019 03:03

चंदे से आने वाली कार भी स्वीकार नहीं करेंगी राम्या

HINDI NEWS18
Mon, 22 Jul 2019 03:03

हरिदास ने कहा था कि कई लोगों ने उन्हें कार देने की पेशकश की थी, लेकिन उन्होंने उन सभी को मना कर दिया था.

चंदे से आने वाली कार भी स्वीकार नहीं करेंगी राम्या

News18HindiUpdated: July 22, 2019, 3:03 AM IST

अलाथूर से कांग्रेस सांसद राम्या हरिदास ने रविवार को कहा कि वह अपनी पार्टी के प्रमु की राय को स्वीकार करेंगी और पार्टी कार्यकर्ताओं के चंदे से आने वाली कार को स्वीकार नहीं करेंगीं. बता दें केरल में युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं क्राउडफंडिंग के माध्यम से ने उपहार के रूप में कार रीदने का फैसला किया था.कांग्रेस की केरल इकाई के अध्यक्ष मुल्लापल्ली रामचंद्रन ने कहा था कि धन इकट्ठा करने का कदम अनुचित था क्योंकि सांसदों को वाहन रीदने के लिए ऋण मिलेगा और अगर वह राम्या की जगह पर होते तो वे धन स्वीकार नहीं करते.हरिदास को युवा कांग्रेस के फैसले के बारे में ुश होने के बाद सोशल मीडिया में कड़ी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा. हरिदास ने रविवार देर रात फेसबुक पोस्ट में कहा कि वह अपनी पार्टी प्रमु की राय मानेंगी. पीटीआई के अनुसार हरिदास ने कहा, यह पार्टी थी जिसने मुझे सांसद बनाया. मुझे आज जो कुछ भी हासिल हुआ है उसे हासिल करने में पार्टी नेतृत्व ने मदद की. मैं पार्टी प्रमु की राय को अपनी आिरी सांस तक स्वीकार करूंगी.यह भी पढ़ें:  एजेंट ने दिया नौकरी का झांसा, यूएई में फंसे नौ भारतीयराम्या ने कहा- पहले से ही इकट्ठा किए गए पैसे के बारे में पूछे जाने पर, जो, उन्होंने कहा कि इस पर युवा कांग्रेस समिति बाद में निर्णय लेगी.हरिदास इस समय राज्य से अकेली महिला लोकसभा सदस्य हैं. वह अलाथुर निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करती है, जो सीपीआई (एम) का लाल किला था.उन्होंने दो बार के सांसद पी के बीजू को हराया था. युवा कांग्रेस के अलाथुर इकाई अध्यक्ष ने पहले कहा था कि वे विशेष रूप से कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच क्राउंडफंडिंग की योजना बना रहीं थीं, न कि आम जनता से.यह भी पढ़ें:  केरल में फिर बाढ़ का तरा, IMD ने जारी किया रेड अलर्टकिया गया था यह फैसलायह भी तय किया गया था कि केरल विधानसभा में विपक्षी नेता 9 अगस्त को युवा कांग्रेस के स्थापना दिवस पर वाहन की चाबी संसद सदस्य को सौंपेंगे. भाकपा के भार्गवी थप्पन के बाद हरिदास राज्य की दूसरी महिला दलित सांसद भी हैं, जिन्होंने 1971 में नारायण सीट से जीत हासिल की थी.हरिदास ने कहा था कि कई लोगों ने उन्हें कार देने की पेशकश की थी, लेकिन उन्होंने उन सभी को मना कर दिया था.
Loading...
Indianews